कानपुर में बिल्हौर के नदिहा खुर्द गांव में बन रहा एनटीपीसी का 225 मेगावाट उत्पादन क्षमता का सौर ऊर्जा संयंत्र यूपी को आधे से भी कम दाम पर बिजली बेचेगा। अभी तक यूपीपीसीएल न्यूनतम छह रुपये प्रति यूनिट की दर से थर्मल प्लांट से बिजली खरीदता है, लेकिन सौर ऊर्जा प्लांट 3.17 रुपये प्रति यूनिट की दर से सस्ती बिजली यूपी को देगा। मार्च 2021 में पूरी क्षमता से सवा दौ सौ मेगावाट यूनिट बिजली का उत्पादन होने लगेगा।

Source:- NTPC

नए साल में 140 मेगावाट बिजली पैदा होगी

थर्मल पॉवर प्लांट कोयले से बिजली बनाता है और कोयला महंगा पड़ रहा है। इसलिए थर्मल पॉवर प्लांट की बिजली महंगी पड़ती है। जनवरी 2021 में बिल्हौर सोलर एनर्जी प्लांट से 140 मेगावाट बिजली का उत्पादन होने लगेगा। इसके पहले दिसंबर के अंत तक 70 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा। अभी प्रायोगिक तौर पर 10 मेगावाट बिजली का उत्पादन हो रहा है, जिसे यूपी को ग्रिड के माध्यम से मुफ्त में बिजली दी जा रही है। अभी कुछ तकनीकी पेच फंसा हुआ है, जिसे जल्द ही दुरुस्त कर लिया जाएगा।

‘सौर ऊर्जा का उत्पादन मार्च 2021 तक 225 मेगावाट होने लगेगा। सौर ऊर्जा में सिर्फ प्लांट का ही खर्च होता है, सूरज की रोशनी से पैदा बिजली कोयले से बनी बिजली की तुलना में काफी सस्ती होती है।’- एके गर्ग, महाप्रबंधक, एनटीपीसी सोलर एनर्जी प्लांट, बिल्हौर

स्रोत :- Amar Ujala